Latest poems on teachers day, sikshak diwas kavita

Mile do dil /मिले दो दिल

0
14 -Feb-2018 shalu L. Valentine Poem 0 Comments  214 Views
Mile do dil /मिले दो दिल

मिले दो दिल अजनबी से हमसफ़र बना जाये, ऐसा अजीब कारवां है जिंदगी का बंध जाते है डोर से रिश्ते, कितना खूबसूरत नाता है बंदगी का……… चहेरे की हसी बयां करे, खुशियों की उमंग दिल में भरे, पाना चाहे बस जहाँ में उसे, दिल दड़कन उ

Wish you Happy Valentine's day

0
13 -Feb-2018 pravin tiwari Valentine Poem 0 Comments  183 Views
Wish you Happy Valentine's day

ROSE DAY.... दे कर फूल गुलाब का तेरे दिल को दिल का एहसास दिया........! तुमने भी फिर मुस्कुरा के, मेरे गुलाब को स्वीकार किया.........! PROPOSE DAY कर दी फिर इजहार-ए-मोहब्बत मैंने, और तुमने भी ना कोई सवाल किया.........! कहां तुमने बस इतना ही मुझसे, मै

तुम्ही मेरे जीवन की शामों-सहर हो

0
13 -Feb-2018 Rohit kumar Ambasta Valentine Poem 0 Comments  304 Views
तुम्ही मेरे जीवन की शामों-सहर हो

खुदा का करिशमा, दुआओं का असर हो.. तुम्हीं मेरी मंजिल, तुम्हीं हमसफर हो.. तुम्ही मेरे जीवन की शामों-सहर हो तुम्ही मेरे जीवन की शामों-सहर हो| तुम बिन नहीं कोई भाता है मुझको, तुम बिन नज़र कुछ ना आता है मुझको तुम्हीं मेरी

वैलेंटाइन वीक

0
08 -Feb-2018 Akshunya Valentine Poem 0 Comments  236 Views
वैलेंटाइन वीक

फरवरी आते ही, प्रेम का पैगाम आया; हर एक मजनू के मन में एक लैला पाने का तुफान आया; आज हर एक गुलाब की कीमत पर है उफान आया; कभी सफेद, कभी पीले, कभी गुलाबी, तो कभी लाल का है मौसम छाया; ऐसा लगता है कि, सात दिन, सात महिने, सात साल,

मुक्तक- तेरे ख्वाब सजाता था अपनी आंखों में...

1
08 -Feb-2018 Piyush Raj Valentine Poem 0 Comments  261 Views
मुक्तक- तेरे ख्वाब सजाता था अपनी आंखों में...

मुक्तक (वैलेंटाइन डे स्पेशल) (1) मैं तेरे ख्वाब सजाता था अपनी आँखों में मैं तुझे लिखता था मेरे हर अल्फाजों में तूने जो दिए फूल गुलाब के सनम उसे आज भी दबा के रखा हूँ किताबों में (2) मैं तेरे साथ-साथ जब भी चलता था तुझे पान

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017