Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

Wo Pyar, Tu Yaar

0
28 -Jan-2019 Shayar Bhai HS Friendship Poems 0 Comments  564 Views
Wo Pyar, Tu Yaar

#Dekh bhai ..

Tu mera yaar hai..
Wo mera pyar hai
Uske ek hasi ke liye to
Apn kch bhi lutwane ko tyar hai..

Wo hase to moti barse
Roye to osh ki bunden..
Ruthe to apn manyega..
Agr padi jarurat to jahan se lad jayega...

Us ko kam mat smjh..
Wo aag hai
Nai koi pholon wali baag hai
Chuega jal jayega.
Aaur kiya kch bhi usko to tera,phat jayega...

#Ae bhai kahan jaa raha hai, aur sun...

Ye mat smjh ki sirf tu hi khas hai..
Teri har harkat aati apn ko raas hai..
Glt soch liya tune baap
Wo apn ke dil ke sabse paas hai..

Usko kch mat kr
Uske chakkar me mat pr
Samjha raha hai apn Nai to
Tuta-Para rahega to jivan bhr...

#Ek akhri gal sun

Uski ko to baat hai
Jo apn ko ayi wo ras hai..
Tu taang mat aadiyo.
Apn ki wo khas hai...
Har bat aati uski raas hai..
Tabhi to tu rah ke bhi
Wo mere sath hai..


Tere irade nek nai .
Abe ban tu fake nai.
Apn janta jai hai sb..
Bt jaan le tu sekh nai ...

Ab tak samjhaya hai .
Pyar se bol manwaya hai..
Harkat badl de apne nai to
Duniya bolegi apn tere ko marwaya hai...

Yaar maaf kr

Smjh gaya tu ,thek hai..
Ye tere liye ek sikh hai ...
Smjh jaa yaar mere..
Apn abhi bhi pehle utna hi thek hai.,

Bas wo apn ke liye khas
Apn ke dil ke paas hai
Abe kya nai aaya tujhe ye raas hai
Par smjh bhai tu uski sath hote hue bhi apn ka khas...

Dar mat tu ab dil ki baten bol de
Raaj dil ke sare ab khol de
Jan tu apn ka aaj bhi khas hai..
Aaur apn hamesha tere pas hai..

#Age tu smjh gaya hoga pagal,par sn

Nai bhula tu apna yaar hai..
On the name of pyar hai..
smjh na yaar itna.
Dil se juda uske dil ke taar hai..

Maaf kr de na mere jigri yaar..
Nai bhula apn tere ko on the name of pyar..
Khus ho be , aur masti ke liye..
Ho ja tu dil khol kar tayar..
Side me jaye kch de ke liye payar..
Chl tu apn enjoy karenge ab bharmar...



वो प्यार, तू यार

#देख भाई ..

तू मेरा यार है..
वो मेरा प्यार है
उसके एक हँसी के लिए तो
अपन कुछ भी लुटवाने को तैयार है..

वो हँसे तो मोती बरसे
रोये तो ओस की बूँदें..
रूठे तो अपन मनायेगा..
अगर पड़ी ज़रूरत तो जहां से लड़ जाएगा...

उस को कम मत समझ..
वो आग है
नई कोई फलों वाली बाग है
छुएगा जल जाएगा.
और किया कुछ भी उसको तो तेरा,फट जाएगा...

#ऐ भाई कहाँ जा रहा है, और सुन...

ये मत समझ की सिर्फ़ तू ही खास है..
तेरी हर हरकत आती अपन को रास है..
गलत सोच लिया तूने बाप
वो अपन के दिल के सबसे पास है..

उसको कुछ मत कर
उसके चक्कर मे मत पड़
समझा रहा है अपन नहीं तो
टूटा-पड़ा रहेगा तू जीवन भर...

#एक आखरी गल सुन

उसकी कोई तो बात है
जो अपन को आई वो रास है..
तू टाँग मत अड़ाईयो .
अपन की वो खास है...
हर बात आती उसकी रास है..
तभी तो तू रह के भी
वो मेरे साथ है..


तेरे इरादे नेक नहीं .
आबे बन तू फेक नहीं.
अपन जनता जै है सब ..
But जान ले तू सीख नई ...

अब तक समझाया है .
प्यार से बोल मनवाया है..
हरकत बदल दे अपने नहीं तो
दुनिया बोलेगी अपन तेरे को मरवाया है...

यार माफ़ कर

समझ गया तू ,ठीक है..
ये तेरे लिए एक सीख है ...
समझ जा यार मेरे..
अपन अभी भी पहले उतना ही ठीक है.,

बस वो अपन के लिए खास
अपन के दिल के पास है
आबे क्या नहीं आया तुझे ये रास है
पर समझ भाई तू उसकी साथ होते हुए भी अपन का खास...

डर मत तू अब दिल की बातें बोल दे
राज दिल के सारे अब खोल दे
जान तू अपन का आज भी खास है..
और अपन हमेशा तेरे पास है..

#आगे तू समझ गया होगा पागल,पर सुन

नहीं भुला तू अपना यार है..
ऑन दी नेम ऑफ प्यार है..
समझ न यार इतना.
दिल से जुड़ा उसके दिल के तार है..

माफ़ कर दे न मेरे जिगरी यार..
नहीं भुला अपन तेरे को ऑन दी नेम ऑफ प्यार...
खुश हो बे , और मस्ती के लिए..
हो जा तू दिल खोल कर तैयार ..
साइड मे जाए कुछ देर के लिए प्यार ..
चल तु अपन एंजाय करेंगे अब भरमार...


Dedicated to
Bholi

Dedication Summary
Because it happened to me
My orignal story

Wrote everything true what came to my mind..

Wanted to write a poem but its in narrative form so mond if its too odd then a normal one

 Please Login to rate it.


You may also likes


How was the poem? Please give your comment.

Post Comment

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017