Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

Wohi to mera shikshak hai

0
24 -Feb-2017 Anju Goyal Teacher Day Poem 1 Comments  1,629 Views
Anju Goyal

मैं तो कोरा कागज था
अपनी कलम से उसने
नाम मेरा लिख दिया
वही तो मेरा शिक्षक है ।

राह दिखाई चलने की
जीने का लक्ष्य बताकर
मंजिल तक पहुंचा दिया
वही तो मेरा शिक्षक है ।

नई नई बातें सिखाकर
अनोखे अपने अनुभव से
मेरी योग्यता से मेरा
परिचय करा दिया
वही तो मेरा शिक्षक है ।

मेरे अज्ञान के अधेरे को
ज्ञान का उजाला देकर
ज्ञानी मुझे बना दिया
वही तो मेरा शिक्षक है ।

सही गलत का भेद बता के
मेरे दोषों को दूर करके
संस्कारों का पाठ पढ़ा दिया
वही तो मेरा शिक्षक है ।



 Please Login to rate it.



You may also likes


How was the poem? Please give your comment.

Post Comment

1 More responses

  • poemocean logo
    Manju goyal (Guest)
    Commented on 27-February-2017

    Good.

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017