Latest poems on teachers day, sikshak diwas kavita

Mitti Ke Shehzadon Ko Lauh Pari Chahiye

5
28 -Jan-2015 Poonam Prakash Woman Poems 1 Comments  3,567 Views
Mitti Ke Shehzadon Ko Lauh Pari Chahiye

देखने सुनने में मदभरी चाहिए,
घर बाहर के कामों में कड़ी चाहिए,
मिट्टी के शहज़ादों को लौह परी चाहिए.

एक ही पल में वो बचपने को छोड़ के,
हर जरूरत का खयाल हर एक की रखे,
वक्त पड़े तो माँ ,बहन,देवी भी हो सके,
उम्र में हो छोटी पर 'बड़ी'चाहिए,
मिट्टी के शहज़ादों को लौह परी चाहिए.

घर के कोने कोने को संभाल कर रखे,
बाहर के कामों में भी वो कमाल कर सके,
मुसीबतों में हो सके तो ढाल बन सके,
हर एक चुनौतियों में वो खरी चाहिए,
मिट्टी के शहज़ादों को लौह परी चाहिए.

फाइव स्टार जैसा खाना बना सके,
घर का इंटीरियर भी चुटकियों में सजा सके,
उसपे ये भी है कि वो पैसे बचा सके,
चाँदनी में धूप सुनहरी चाहिए,
मिट्टी के शहज़ादों को लौह परी चाहिए.

लुक्स में हो स्मार्ट ऐजुकेशन भी हाई हो,
नौकरी करे और मोटी कमाई हो,
घर में आके काम में जुटी सी बाई हो,
उस पे मुस्कुराती हर घड़ी चाहिए,
मिट्टी के शहज़ादों को लौह परी चाहिए.

https://www.facebook.com/poonam.prakash1?fref=nf



Dedicated to
Society

Dedication Summary
साथियों अखबार में यूं ही एक वैवाहिक विग्यापन पर नजर गई..लिखा था...
चाहिए गोरी, अतिसुंदर,लंबी,गृहकार्य दक्ष ,मधुर व्यवहार ,स्मार्ट, सरकारी या प्राईवेट सेवारत कन्या .......
इसे पढ़ने के बाद यह सोचने पर मजबूर हो गई कि वह लड़का व उसका परिवार एक पत्नी या बहू से क्या क्या उम्मीदें रखता है....सोचते सोचते कुछ तुकबंदी बनती गईं जिन्हें आप सबके साथ साझा कर रही हूँ .कृपया अन्यथा न लें.

 Please Login to rate it.



You may also likes


How was the poem? Please give your comment.

Post Comment

1 More responses

  • poemocean logo
    Kashif (Guest)
    Commented on 08-July-2018

    लोहे की परियों की मिटटी के शहज़ादों से उम्मीदें
    =================================

    स्मार्ट और हैंडसम हो
    रंग गोरा हो
    हाइट अच्छी होनी चाहिए
    और खानदान तो ऊँचा होना ही चाहिए
    मस्कुलर हो (मुझे प्रोटेक्ट तो कर सके)

    हाइली क्वालिफाइड हो
    सरकारी नौकरी नहीं तो किसी मल्टीनैशनल कंपनी का मैनेजर तो होना ही चाहिए
    तनख्वाह तो 6 अंको की ही चाहिए
    वेल सेटल्ड होना चाहिए
    उम्र ज़्यादा नहीं होनी चाहिए
    पर बैंक बैलेंस बड़ा होना चाहिए
    अपना घर या कम से कम अपना फ्लैट तो होना ही चाहिए

    दहेज़ की बिलकुल न सोचे मेरे पापा ने मेरी एजुकेशन पर बहुत खर्चा किया है
    पर हाँ इंगेजमेंट में डायमंड की रिंग ले कर आये
    और बरी में सोने के दस बारह सेट तो चढ़ाये वरना मेरी चाची/ ताई/ बुआ/ मौसी क्या कहेंगी
    हनीमून का तो मैंने बचपन से सोचा है "बाली" जाने का

    सिगरेट, तम्बाकू जैसा कोई गलत शौक़ नहीं होना चाहिए
    ऑफिस में बड़ा रोब होना चाहिए
    शाम 6 बजे घर आ जाये और ज़्यादा वक़्त घर पर बिताए
    मुझे नौकरी करने दे पर मेरी सैलरी का हिसाब न ले

    शादी के बाद नया मोबाइल दिलवाये
    और उसका बिल टाइम पर भरता रहे
    बिना मांगे मुझे खर्च के लिए पैसे देता रहे
    और अपना क्रेडिट कार्ड मेरे पास ही रखा रहने दे

    किस भाई बहन की ज़िम्मेदारी तो बिलकुल ना हो उस पर
    और पेरेंट्स के साथ न रहता हो (this is not mandatory - रहता होगा तो बाद में अलग कर दूंगी)

    क्या ? लड़के के सर पर बाल कम हैं, यह शादी नहीं हो सकती

    ---- By काशिफ़ मसूद ख़ान.

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017