Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

Yaad hai jab main skull ko aya...

25
02 -Mar-2016 Thakur Gourav Singh Student Poems 5 Comments  3,775 Views
Thakur Gourav Singh

याद है मुझे जब मैं स्कूल को आया
मम्मी-पापा ने मेरी उँगली टीचर के हाथो मै थमाया
टीचर ने दी मुझे टोफी और मेरा मन बाहलया
फिर बताया
'बेटा ये तो पेहला कदम है तुम्हारे जीवन का अभी
घबरा गये,
सच बोलूँ तो उस समय समझ ना पाया,
धीरे-धीरे समय बीत गया और मैं बडा हो गया
टीचर ने मेरा साथ हमेशा निभाया है
कभी डाट कर मेरी गलती सुधारी तो
कभी मेरा साथ देकर मेरा होसला बढाया
गलत को गलत और सच को सच बोलना सिखाया
ज़िन्गदी को जीना सिखाया।।
पेहले रोता था स्कूल ना जाने के लिए
और आज मरता हूँ स्कूल आने के लिए
मम्मी-पापा ने तो सिर्फ मेरी उँगली थामयी
कि टीचर्स के हाथो मै
इन्होने मुझे उस काबिल की मैं कुछ लिख सकुं।।

गौरव सिंह



 Please Login to rate it.



You may also likes


How was the poem? Please give your comment.

Post Comment

5 More responses

  • poemocean logo
    Gagan (Guest)
    Commented on 11-July-2016

    very funny poem.

  • poemocean logo
    Javed (Guest)
    Commented on 10-June-2016

    super year very nice.

  • poemocean logo
    Taniya (Guest)
    Commented on 11-March-2016

    Awww.... Sooo swttt poem bhai... Really vry true.....

  • poemocean logo
    Shalini (Guest)
    Commented on 04-March-2016

    owsm lines...!! luv it!.

  • poemocean logo
    Akash singh (Guest)
    Commented on 03-March-2016

    Bhai ek no. Mast h :).

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017