Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

यह कैसी है "ऑनलाइन"

0

यह कैसी है "ऑनलाइन" / Yah Kaisi hai 'Online' This Hindi poem describe the Negative impact of eCommerce on small businesses. Today online websites like Amazon, flipkart, snapdeal, paytmmalls are providing huge discount and cashback on items ordered online. Due to these discounts peoples are preferred to shop online instead of offline. This has a very negative effect on small businessmen. Small businessmen are struggling to earn profit in their business.

21 -Oct-2019 jagmohan jetha Business Poem 0 Comments  600 Views
jagmohan jetha

यह कैसी है "ऑनलाइन"
-------------------------------------
ऐसी कौन सी पिला दी
सरकार को इन्होंने वाइन
जिससे छोटे व्यापारियों
को लग गयी सलाईन
अब आप ही बतलाइये.......
यह कैसी है "ऑनलाइन"
सरकार को मिल रहा
टैक्स रूपी भरपूर चंदा
तभी तो दिल्ली में चुप बैठा है बंदा
अब आप ही बतलाइये......
यह कैसी है "ऑनलाइन"
विदेशी व्यापारी बन बैठा अब सेठ
छोटे व्यापारी कैसे भरे
अपने बच्चों का पेट
आप ही बतलाइये.......
यह कैसी है "ऑनलाइन"
छुट की दे दे सौगात
गुणवत्ता की कभी नही
करते ये बात
फिर भी घर-घर पहुंचा दी
इन्होंने अपनी बारात
अब आप ही बतलाइये.......
यह कैसी है "ऑनलाइन"
आम व्यापारियों के लिये
हमारे आकाओ की
नीति हो गई गंदी
तभी तो छा गई
हमारे सारे देश में मंदी
अब आप ही बतलाइये.....
यह कैसी है "ऑनलाइन" ।



Dedicated to
Narendra Modi

 Please Login to rate it.



You may also likes


How was the poem? Please give your comment.

Post Comment

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017