Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

Kunal Bardia

List of popular and best poems written by Kunal Bardia

Kunal Bardia
Kunal Bardia
Kunal Bardia

कुछ गीतों का श्रोता कोई न होगा

0
09 -Apr-2020 kunal bardia Lonely Poems 0 Comments  473 Views
कुछ गीतों का श्रोता कोई न होगा

कुछ गीतों का श्रोता कोई न होगा, कुछ अल्फाज़ों को न मिलेगी आ

राष्ट्र पथ

0
09 -Apr-2020 kunal bardia Patriotic Poems 0 Comments  631 Views
राष्ट्र पथ

होकर अडिग, निश्छल सदा, बढ़ते रहो राष्ट्र पथ पर
चाहे अर्पण ह

मन में उम्मीदों की मशाल जलाये रखना

0
09 -Apr-2020 kunal bardia Motivational Poems 0 Comments  558 Views
मन में उम्मीदों की मशाल जलाये रखना

जब नीरस हो हर पल और ठहरा सा हो मन
आँखों से ओझल हो उम्मीदों

राष्ट्र का विचार, मतदान का आधार

0
09 -Apr-2020 kunal bardia Patriotic Poems 0 Comments  167 Views
राष्ट्र का विचार, मतदान का आधार

स्वयं का हित छोड़, चलो आज नया विचार करें
स्वार्थ के लिए, व्

राष्ट्र मंदिर

0
09 -Apr-2020 kunal bardia Patriotic Poems 0 Comments  302 Views
राष्ट्र मंदिर

भव्य बनेगा, अद्भुत होगा, होगा राष्ट्रीय अभिमान
अभी बनेगा

मंथन करो अपने भीतर

0
09 -Apr-2020 kunal bardia Patriotic Poems 0 Comments  210 Views
मंथन करो अपने भीतर

चाहे बना लिए हो देश अनेक, पर राष्ट्र भाव कैसे मिटाओगे
चाह

प्रचंड खिलेगा फूल कमल

0
09 -Apr-2020 kunal bardia Politics Poem 0 Comments  168 Views
प्रचंड खिलेगा फूल कमल

प्रचंड खिलेगा फूल कमल, और उछालो कीचड़ कंकर
गूँज रहा हर कौन

चंचल मन संभाल कर, लक्ष्य लगा आकाश पर

0
09 -Apr-2020 kunal bardia Motivational Poems 0 Comments  357 Views
चंचल मन संभाल कर, लक्ष्य लगा आकाश पर

चंचल मन संभाल कर, लक्ष्य लगा आकाश पर
कर विजय निज द्वन्द पर

सपना आज फिर देखें, अखंड भारत का मिलकर

0
09 -Apr-2020 kunal bardia Patriotic Poems 0 Comments  200 Views
सपना आज फिर देखें, अखंड भारत का मिलकर

चेहकती थी सोने की चिड़ियाँ, आर्यों का था नगर,
सपना आज फिर दे

अखंड भारत का स्वप्न सजाओ

0
09 -Apr-2020 kunal bardia Patriotic Poems 0 Comments  135 Views
अखंड भारत का स्वप्न सजाओ

प्रबल प्रचंड अद्भुत अभंग, सोने की चिड़ियाँ फिर बसाओ
भारती

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017