Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

ताज मोहम्मद

List of popular and best poems written by ताज मोहम्मद

ताज मोहम्मद
ताज मोहम्मद
ताज मोहम्मद

दिलें खुशी भी अजब होती है।

0
15 -Mar-2022 ताज मोहम्मद Social Poems 0 Comments  90 Views
दिलें खुशी भी अजब होती है।

दिले खुशी भी अजब होती है।
आने पर इन पलकों को भिगा देती हैं

दीदार करा दिया करो।

0
15 -Mar-2022 ताज मोहम्मद Love Poem 0 Comments  129 Views
दीदार करा दिया करो।

ऐसे ही दीदार करा दिया करो।
भले ही तुम गैर बनकर आया करो।।1।

तुम्हें तो तजुर्बा है।

0
15 -Mar-2022 ताज मोहम्मद Break Up Poems 0 Comments  41 Views
तुम्हें तो तजुर्बा है।

तुम्हें तो तजुर्बा है इश्क में जीने का।
तुम समझ सकते हों

कहां ऐसी नज़र होती है।

0
15 -Mar-2022 ताज मोहम्मद Social Poems 0 Comments  49 Views
कहां ऐसी नज़र होती है।

यूं हुनर को पहचानें ले सभी में कहां ऐसी नज़र होती है।
हीर

इश्क मेरा बेअसर हो रहा है।

0
15 -Mar-2022 ताज मोहम्मद Bewafai Poems 0 Comments  52 Views
इश्क मेरा बेअसर हो रहा है।

इश्क मेरा बे असर हो रहा है।
सनम पत्थर दिल बन रहा है।।1।।

मोहब्बत को कौन समझा है।

0
15 -Mar-2022 ताज मोहम्मद Social Poems 0 Comments  51 Views
मोहब्बत को कौन समझा है।

मोहब्बत को कौन समझा है हमको मिलाओ उससे।
हमारे मिलने वालो

हर कोई दीवाना बन जाता है।

0
15 -Mar-2022 ताज मोहम्मद Love Poem 0 Comments  75 Views
हर कोई दीवाना बन जाता है।

इश्क में लुटकर देखो हर कोई दीवाना बन जाता है।
अच्छा खासा

क्या वह सारा वहम था।

0
15 -Mar-2022 ताज मोहम्मद Sad Poems 0 Comments  91 Views
क्या वह सारा वहम था।

क्या वह सारा वहम था,,,
जब तू होता हमारे पास था।।1।।

कहता है

शहर की सड़के सूनी पड़ी है।

0
03 -Mar-2022 ताज मोहम्मद War Poems 0 Comments  0 Views
शहर की सड़के सूनी पड़ी है।

शहर की सड़के सूनी पड़ी है फिज़ा भी सहम रही है।
हवाओं में ज

खुदा की मेहरबानी है।

0
03 -Mar-2022 ताज मोहम्मद Love Poem 0 Comments  102 Views
खुदा की मेहरबानी है।

मेरी जिदंगी मेरी मां की निशानी है।
हर किसी को देना खुदा क

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017