Latest poems in Hindi & English on Republic day, India Gantantra Diwas, 26 January

Total 5057 responses

  • poemocean logo
    शीतल (Guest)
    Commented on 24-November-2020

    बहुत सुंदर.

    Commented for: Ek boodhe ki Atmakatha.

  • poemocean logo
    Gian chand sharma (Guest)
    Commented on 16-November-2020

    So sweet poem.

    Commented for: Meri Priya Mitra

  • poemocean logo
    Anil Mishra prahari (Guest)
    Commented on 16-November-2020

    Bhavpurn rachana..

    Commented for: दिवाली तेरे बिन माँ..

  • poemocean logo
    Navodayans (Guest)
    Commented on 15-November-2020

    So navoday walo se yuhin na laga karo.

    Commented for: नवोदय वालो को काबू में कैसे करे।

  • poemocean logo
    Payal (Guest)
    Commented on 24-October-2020

    Very nice poem.

    Commented for: रावण कहता है / RAVAN KAHETA HAI

  • Anand kumar
    Anand kumar (Registered Member)
    Commented on 19-September-2020

    @Ankita Singh
    Thank you dear ☺️.

    Commented for: आशिकों को संभलना (एक ग़ज़ल)

  • poemocean logo
    Surya deep Yadav (Guest)
    Commented on 11-September-2020

    जिसके चेहरे पर प्यार है ।
    मेरे लिए वही संसार है।
    करती मोहब्बत मुझसे बेइंतहा है
    वो माँ है।
    जब जाऊ मैं रूठ, मुझे वो मनाती,
    था न मेरे पास कुछ भी पर फ़िर भी दुनियां को मेरे कदमों में झुकाना चाहती।
    जब कभी मेरे आँखे नम हो जाती ,
    वो आती, और प्यार से अपने गोद मे सुलाती
    वो माँ है।
    वो पापा के डाटओ से बचाती है
    टीचरो का काम भी वो प्यार से करती है
    करू लड़ाई किसी से, वो आती और प्यार से समझाती है
    वो माँ हैं।
    वो हर मिनट करती हमारे लिए काम है
    इन सभी कामो के लिये मिलता न कोई दाम है
    उसकी फटी सारिया ,पिले पड़े चेहरे ,
    देखकर लोग ताने मरते कई बार है
    वो ताने सुनकर भी हस्ती।
    क्योंकि, वो जानती यही दुनिया का सार है।
    वो माँ हैं।
    मेरी प्यारी माँ है।।.

    Commented for: जाते जाते बप्पा/ jate jate bappa

  • poemocean logo
    What a great poem sir (Guest)
    Commented on 08-September-2020

    Awesome poem.

    Commented for: Parivar

  • poemocean logo
    Krishan (Guest)
    Commented on 23-August-2020

    hello ma'am i shared your poem to lots of friends... i just want a poem on father.... can you write... please ma'am please please please please please.

    Commented for: गुलामी से नहीं मुक्त हुआ है।

  • poemocean logo
    Soffiya (Guest)
    Commented on 21-August-2020

    Very nice poem.

    Commented for: गंदी कविता

Poemocean Poetry Contest

Good in poetry writing!!! Enter to win. Entry is absolutely free.
You can view contest entries at Hindi Poetry Contest: March 2017